किसान भाइयों जाने कैसा रहेगा आने वाले दिनों में मौसम ।

मौसम_अपडेट:-

नए साल के पहले हफ्ते की शुरुआत लगभग पूरे भारत मे बारिश के साथ:-

उत्तर भारत मे बारिश हुई थोड़ा समय हो गया है। लेकिन 20 दिन पहले हुई बारिश से फायदा भी हुआ साथ ही प्रचंड सर्दी से उत्तर भारत मे जनजीवन अस्त व्यस्त हो गया है। गलन के कारण काम प्रभावित हो रहे हैं।

वही मध्य भारत मे आए हफ्ते बारिश हो रही है। कुछ ऐसा ही नए साल के पहले हफ्ते में होने वाला है।

31 दिसम्बर से मध्य भारत मे बारिश शुरू होगी। साथ एक मध्यम दर्जे का पश्चिमी विक्षोभ जो 1 जनवरी की शाम से भारत मे दाखिल होगा, वो भी बारिश ओलावृष्टि देगा। जिसके कारण बारिश फैलते-फैलते लद्दाख व जम्मू कश्मीर, हिमाचल प्रदेश, उत्तराखंड, पंजाब, दिल्ली, हरियाणा, उत्तरप्रदेश, राजस्थान, मध्यप्रदेश, महाराष्ट्र, तेलंगाना, आंध्रप्रदेश, छत्तीसगढ़, ओड़िशा, झारखंड, बिहार, पश्चिम बंगाल व उत्तरपूर्व के भारतीय राज्यो तक पहुच जाएगी।

मौसम प्रणालियां कुछ इस प्रकार होगी कि लगभग पूरा भारत बारिश से प्रभावित होगा।
★ एक चक्रवाती हवाओं का क्षेत्र पुर्वी गुजरात, उत्तर-मध्य महाराष्ट्र व पश्चिमी मध्यप्रदेश पर आज से बनना शुरू हो रहा है। जो 1 जनवरी तक इसी जगह बना रहेगा। इस प्रणाली के कारण अरब सागर की नम व ठंडी हवाए मध्य भारत पर एकत्रित होंगी।
★ ओड़िशा व साथ लगते बंगाल की खाड़ी में एक विपरीत हवाओ का परिसंचरण क्षेत्र बना हुआ है जो अगले कुछ दिनों में सक्रिय ही बना रहेगा। इस प्रणाली के कारण भी बंगाल की खाड़ी की नम व गर्म हवाए मध्य भारत पर एकत्रित होंगी।
★ 1 जनवरी की शाम से एक मध्यम दर्जे का प०वि० उत्तर भारत की तरफ बढेगा। जिसकी हवाओ से बना परिसंचरण क्षेत्र मध्य राजस्थान पर विकसित होगा।
2 जनवरी को जब प०वि० की हवाओं से बना परिसंचरण क्षेत्र दक्षिणपूर्वी राजस्थान व इससे लगे इलाकों पर पहुंच जाएगा। वहीं गुजरात पर बना परिसंचरण क्षेत्र भी पूर्वी दिशा में आगे बढ़ेगा, दोनों परिसंचरण आगे बढ़ेगे जिसके कारण हिमालय के तलहटी इलाको में पंजाब से लेकर पश्चिम बंगाल तक एक ट्रफ का निर्माण होगा, जिसमें यह परिसंचरण क्षेत्र भी शामिल होगा।

30_दिसम्बर:-

दक्षिण मध्य प्रदेश, विदर्भ, मराठवाड़ा, तेलंगाना, आंध्र प्रदेश, कर्नाटक में बिखरी हुई हल्की बारिश या बूंदाबांदी होने की उम्मीद है।
शेष भारत के इलाकों में मौसम साफ रहेगा। लेकिन उत्तर भारत में धुंध के साथ प्रचंड सर्दी बनी रहेगी।

31_दिसम्बर:-

उत्तर भारत में धुंध बरकरार रहेगी, हालांकि न्यूनतम तापमान बढ़ेगा जिसके कारण ठिठुरन से राहत मिलेगी। दोपहर बाद तक हल्के बादल छाए रहने की उम्मीद है।
दक्षिणपूर्वी मध्य प्रदेश, विदर्भ, छत्तीसगढ़, झारखंड, आंध्र प्रदेश, तेलंगाना, कर्नाटक में हल्की बारिश होगी।
लेकिन विदर्भ व इससे लगते इलाकों में कुछ जगहों पर तेज बारिश और ओलावृष्टि भी दर्ज की जा सकती है।

1_जनवरी:-

उत्तर भारत के पहाड़ी राज्यो में हल्की बारिश व बर्फबारी की शुरुआत हो जाएगी। मैदानी राज्यो में हल्की से मध्यम धुंध सुबह के वक्त होगी। दिन के समय घने प०वि० के असर से घने बादल छाए रहने की उम्मीद है। शाम से बूंदाबांदी शुरू होने की उम्मीद है।
1 जनवरी से कड़ाके की ठंड पर लगाम लग जाएगी। कम से कम 10 दिन तक न्यूनतम 5℃ व इससे ऊपर और अधिकतम तापमान 13℃ व इसके आसपास ही बने रहने की उम्मीद है।
दक्षिण-पुर्वी राजस्थान, मध्यप्रदेश, बुंदेलखंड, झारखंड, छत्तीसगढ़, पुर्वी व मध्य पुर्वी महाराष्ट्र, तेलंगाना में हल्की बारिश होगी। कुछ-एक जगहों पर तेज़ बारिश की भी उम्मीद है।
विदर्भ व इससे लगते इलाको में हल्की से मध्यम बारिश व ओलावृष्टि भी होगी।

2_जनवरी:-

जम्मू कश्मीर, लद्दाख, हिमाचल प्रदेश व उत्तराखंड में हल्की से मध्यम बारिश व बर्फबारी होगी।
पंजाब, हरियाणा, दिल्ली, उत्तरपुर्वी, पुर्वी व मध्य राजस्थान, पश्चिमी मध्यप्रदेश, मराठवाड़ा में मेघगर्जन के साथ हल्की बारिश की उम्मीद है। कुछ एक जगहों पर तीव्र मौसमी गतिविधियों के होने की सम्भावना भी हैं।
(अमृतसर, भटिंडा, जालन्धर, लुधियाना, पटियाला, फाजिल्का, मोहाली, अम्बाला, करनाल, रोहतक, गुड़गांव, सिरसा, हिसार, भिवानी, फरीदाबाद, पलवल, दिल्ली, श्रीगंगानगर, हनुमानगढ़, चूरू, सीकर, झुंझुनूं, भरतपुर, धौलपुर, अजमेर, नागौर, जोधपुर, जैसलमेर, कोटा, टोंक, बूंदी, बारां, झालवाड़, नीमच, मन्दसौर, रतलाम, राजगढ़, शाजापुर, आगरमालवा, धार, इंदौर, देवास, अलीराजपुर, खण्डवा, खरगोन, जलगांव, अहमदनगर, बुलढाणा, नांदेड़, कोल्हापुर, सांगली, सतारा, परभणी, हिंगोली आदि)

सम्पूर्ण यूपी, मध्य व पुर्वी मध्यप्रदेश, विदर्भ, सम्पूर्ण छत्तीसगढ़, सम्पूर्ण ओड़िशा, झारखंड, बिहार, पश्चिम बंगाल में मध्यम से भारी बारिश होगी।
विदर्भ व मध्य छत्तीसगढ़ में भारी बारिश के साथ भारी ओलावृष्टि भी संभव है।
(सहारनपुर, मेरठ, बुलन्दशहर, अलीगढ़, आगरा, फिरोजाबाद, झांसी, कानपुर, लखनउ, सीतापुर, बरेली, पीलीभीत, बिजनौर, अमरोहा, संभल, लखीमपुर, बाँदा, इलाहाबाद, वाराणसी, चित्रकूट, महोबा, ललितपुर, दतिया, मुरैना, भिंड, ग्वालियर, गुना, अशोकनगर, टीकमगढ़, छतरपुर, सागर, विदिशा, पन्ना, सतना, सीधी, सिंगरौली, भोपाल, रायसेन, जबलपुर, नरसिंहपुर, होशंगाबाद, बेतुल, हरदा, बालाघाट, मण्डला, डिंडोरी, नागपुर, गोंदिया, वर्धा, अमरावती, यमतवाल, गढ़चिरौली, राजनांदगांव, दुर्ग, बेमेतरा, रायपुर, नारायणगढ़, कांकेर, बक्सर, सूरजपुर, बिलासपुर, जसपुर, जांजगीर, बालोद बाजार, गया, नालंदा, पूर्णिया, भागलपुर, राँची, कांके, धनबाद, आसनसोल, कोलकाता आदि)

3_जनवरी:-

चारो पहाड़ी राज्यो में हल्की से मध्यम बारिश व बर्फबारी होगी। पंजाब, हरियाणा, उत्तरपूर्व राजस्थान, दिल्ली, पुर्वी मध्यप्रदेश, पुर्वी महाराष्ट्र में हल्की बारिश होने की सम्भावना हैं। कुछ एक जगहों पर तेज़ बारिश की भी उम्मीद है।
सम्पूर्ण यूपी, बिहार, झारखंड, पश्चिम बंगाल, छत्तीसगढ़, ओड़िशा व उत्तरी आंध्रप्रदेश में मध्यम से भारी बारिश होगी। कुछ एक जगह छूट भी सकती है जहाँ बूंदाबांदी या हल्की बारिश से संतोष करना पड़ेगा।

4_जनवरी:-

चारो पहाड़ी राज्यो में हल्की बारिश व बर्फबारी जारी रहेगी।
पुर्वी पंजाब, उत्तरी हरियाणा, हिमालय से लगते यूपी व बिहार, पश्चिम बंगाल, दक्षिण छत्तीसगढ़, ओड़िशा व उत्तरी आंध्रप्रदेश में हल्की बारिश जारी रहने की उम्मीद है।
शेष उत्तर भारत के मैदानी इलाको व मध्य भारत मे धुंध का आगाज़ होगा।

सिर्फ 4 जनवरी को ठंड का एहसास काफी जोरो से होगा। क्योकि बेहद सक्रिय नया प०वि० का उत्तर भारत की तरफ पहुँच जाएगा।

5 जनवरी से उत्तर भारत के पश्चिमी हिस्सो में बारिश की शुरुआत हो जाएगी। 6, 7, 8, जनवरी को पंजाब, हरियाणा, राजस्थान, उत्तरी मध्यप्रदेश, उत्तरप्रदेश व बिहार में फिर से तेज़ बारिश व ओलावृष्टि की सम्भावना हैं।

Share